Category: political science

प्रस्तावना (उद्द्शिका) | Preamble

प्रस्तावना (उद्द्शिका) | Preamble “हम भारत के लोग, भारत को एक सम्पूर्ण प्रभुत्व सम्पन्न, समाजवादी, पंथनिरपेक्ष, लोकतंत्रात्मक गणराज्य बनाने के लिए तथा उसके समस्त नागरिकों को , न्याय, सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक, विचार, अभिव्यक्ति, विश्वास, धर्म और उपासना की स्वतंत्रता, प्रतिष्ठा और अवसर की समता प्राप्त करने के लिए तथा उन सबमें व्यक्ति की गरिमा

भारतीय संविधान का ऐतिहासिक पृष्ठभूमि -2

भारतीय संविधान का ऐतिहासिक पृष्ठभूमि -2 1813 का चार्टर अधिनियम –ब्रिटिश भारत के केन्द्रीकरण की दिशा में यह अधिनियम निर्णायक कदम था | इस अधिनियम की मुख्य विशेषताए – 1.  इसने बंगाल के गवर्नर जेनरल को भारत का गवर्नर जनरल बना दिया ,जिसमें सभी नागरिक और सैन्य शक्तियां निहित थी |इस अधिनियम ने पहली बार एक ऐसी सरकार

भारतीय संविधान के विदेशी स्रोत |Foreign sources of Indian Constitution

भारतीय संविधान के विदेशी स्रोत |Foreign sources of Indian Constitution संयुक्त राज्य अमेरिका (USA)के संविधान से लिए गये स्रोत प्रस्तावना के शब्द (हम भारत के लोग ) [The words of the preamble (we are people of India)] मूल अधिकार |[Original Rights ] स्वतंत्र न्यायपालिका [Independent judiciary] न्यायायिक पुनर्विलोकन [Judicial review] सर्वोच्च नायालय एवं उच्च न्यायालय के न्यायाधीशो

भारतीय संविधान की विशेषताये|Feature of Indian Constitution

भारतीय संविधान की विशेषताये|Feature of Indian Constitution भारतीय संविधान एक लिखित संविधान है |भारतीय संविधान लिखित संविधान के आधार पर अमेरिका के समान है | -इसमें एक प्रस्तावना ,395 अन्नुछेद ,22 भाग ,और 8 अनुसूची है | -वर्तमान में एक प्रस्तावना 465 अनुच्छेद (संख्यांक395),25 भाग (संख्यांक 22)और 12 अनुसूचियां है | –भारत का संविधान सबसे

प्रारूप सिमिति |Format committee

प्रारूप सिमिति |Format committee भारत के प्रारूप सिमिति  को तैयार करने के लिए 29 अगस्त 1947  को प्रारूप सिमिति का गठन किया गया |डॉ.भीम राव अम्बेटकर इसके अध्यक्ष थे |इसमें कुल 7 सदस्य थे (अध्यक्ष सहित) जो निम्न्लिखित है- के.सी.मुंशी डी.पी.खेताल बी.एम.मित्तर मुहमद सादुल्ला अल्लादी कृष्ण स्वामी अय्यर एन.गोपाल स्वामी आयंगर छोटी सिमिति एवं उनके अध्यक्ष – वित्त एवं कर्मचारी समिति 

संविधान सभा की सिमितियाँ | Committees of the Constituent Assembly

संविधान सभा की सिमितियाँ | Committees of the Constituent Assembly संविधान सभा ने संविधान के निर्माण से सम्बंधित विभिन्न कार्य को करने के लिए कई समोतियो का गठन किया |जिनमे 8 बड़ी समितिया तथा अन्य छोटी थी |जो इस प्रकार है – बड़ी संघ सनितियाँ एवं उनके अध्यक्ष – 1.संघ सिमिति के अध्यक्ष       –  पंडित जवाहरलाल

उद्देश्य प्रस्ताव | Objective Resolution

उद्देश्य प्रस्ताव | Objective Resolution संविधान सभा का प्रारंभ 13 दिसम्बर 1946 को पंडित जवाहर लाल नेहरू के उद्देश्य प्रस्ताव से हुआ |यही उद्देश्य प्रस्ताव भावी संविधान की रूप रेखा थी | इस उद्देश्य प्रस्ताव में 8 अन्नुछेद थे | नेहरू के उद्देश्य प्रस्ताव में भारतीय संविधान के प्रमुख उद्देश्य जैसे – सामजिक ,आर्थिक एवं राजनैतिक न्याय ,स्वतंत्रता व

संविधान सभा |Constituent Assembly

संविधान सभा |Constituent Assembly संविधान सभा के विचार को व्यवहारिक रूप से अमेरिका और फ्रांस ने अपनाया | संविधान सभा के सिद्धांत का दर्शन सर्वप्रथम बालगंगाधर तिलक के निर्देशन में निर्मित स्वराज विधेयक में मिलता है | 1922 में गाँधी जी ने भारतीय संविधान के निर्माण की बल दिया |हरिजन पत्रिका में उन्होंने यह विचार व्यक्त  किया   भारतीय संविधान भारतीयों की इच्छा

अंतरिम सरकार का गठन 1946

अंतरिम सरकार का गठन 1946 24 अगस्त 1946 को पंडित नेहरु के न्त्रेत्व में भारत की पहली अंतरिम राष्ट्रीय सरकार का गठन किया गया ,जिसमे मुस्लिम लीग की भागीदारी नहीं थी | पंडित नेहरु ने 2 सितम्बर 1946 को 11 अन्य सदस्यों के साथ पद की सपथ ली |इसमें तीन मुस्लिम थे परन्तु मुस्लिम लीग

कैबिनेट मिशन 1946

कैबिनेट मिशन 1946 -ब्रिटिश प्रधानमंत्री सर क्लीमेंट एटली (लेबर पार्टी )ने 22 जनवरी 1946को भारत में चल रहे राजनैतिक गतिरोध को दूर करने के लिए एक उच्च स्तरीय कैबिनेट मिशन भेजने  निर्णय  | कैबिनेट मिशन ने तीन सदस्यों को भेजा जिसमे – सर पैथिक लॉरेंस (अध्यक्ष ),सर स्टेफोर्ड क्रिप्स ,ए.बी.अलेक्जेंडर थे | कैबिनेट मिशन द्वारा 16 मई