क्रिप्स मिशन | Cripps Mission 

क्रिप्स मिशन | Cripps Mission

  • 22 मार्च 1942 को क्रिप्स मिशन भारत आया |यह एक सदस्यीय आयोग था ,जो सर स्टेफोर्ड क्रिप्स के नेत्रत्व में ब्रिटिश सरकार द्वारा भेजा गया था |
  • इस मिशन के अनुशार ,ब्रिटिश सरकार एक ऐसे भारतीय संघ की स्थापना करना चाहती थी ,जिसकी स्थिति ब्रिटिश सम्राट के अंतर्गत एक पूर्ण औपनिवेशिक स्वराज की होगी |
  • कांग्रेस के द्वारा सम्पूर्ण भारत के लिए स्वतंत्रता की मांग की जा रही थी |लेकिन क्रिप्प्स प्रस्तावों में औपनिवेशिक स्वराज की ही बात की गयी थी |
  • वास्तव में औपनिवेशिक स्वराज के लिए भी कोई तिथि निश्तित नहीं की गयी थी ,इसी कारण गाँधी जी द्वारा इस प्रस्ताव को  दिवालिया बैंक या भविष्य की तिथि  भुनाने वाला चेक (post Dated cheque) कहा था |
  • क्रिप्स प्रस्तावों में पाकिस्तान के निर्माण की स्पष्ट व्यवस्ता न होने के कारण मुस्लिम लीग द्वारा भी इस प्रस्ताव को अस्वीकार किया |

कांग्रेस द्वारा क्रिप्स प्रस्तावों को अस्वीकार करने का कारण –

  • क्रिप्स प्रस्तावों में अप्रत्यक्ष रूप से पाकिस्तान की मांग को स्वीकार को स्वीकार किया गया था |
  • भारत की सुरक्षा के प्रश्न पर कांग्रेस क्रिप्स प्रस्ताव से सहमत नहीं थी |

Also Read

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *