रूपांतरित चट्टानें |Metamorphic Rocks

रूपांतरित चट्टानें |Metamorphic Rocks

रूपांतरित चट्टानें-जब ताप एवं दबाव के कारण आग्नेय और अवसादी चट्टानों के संगठन तथा स्वरुप में परिवर्तन हो जाता है उसे रूपांतरित चट्टान कहते है |ये चट्टाने सबसे ज्यादा कठोर व जीवाश्म रहित होती है |रूपांतरित चट्टाने पांच प्रकार की होती है

  1. संस्पर्श कायांतरण
  2. गतिक कायांतरण
  3. स्थैतिक कायांतरण
  4. जलीय कायांतरण
  5. उष्ण जलीय कायांतरण

संस्पर्श कायांतरण-ज्वालामुखी क्रिया में लावा के प्रवाह में भुप्र्ष्ठ की भीतरी चट्टानें झुलसकर रूप बदल लेती है |जैसे- चुना पत्थर से संगमरमर और कोयला से कोक बनता है |

गतिक कायांतरण -इसमें भारी दबाव से उत्पन्न अधिक उष्णता से चट्टानों में परिवर्तित हो जाते है |जैसे–शैल बदलकर स्फटिक ,चिकनी मिटटी से शैल और बलुआ पत्थर से क्वार्ट्जाइट और कोयला से ग्रेफाइट बनता है|

स्थैतिक कायांतरण –भूगर्भ में स्थित शैलो पर ऊपर का भरी दबाव पड़ता है और रूप बदल जाता है स्थैतिक कायांतरण कहलाता है |

जलीय कायांतरण-जलीय दबाव के कारण चट्टानों में परिवर्तन आ जाता है |जलीय कायांतरण कहलाता है |

उष्ण जलीय कायांतरण-इसने भूगर्भ की चट्टानों में भाप और गर्म जल के प्रभाव से चटानो में परिवर्तन आ जाता है |जैसे- चुने के पत्थर से संगमरमर का बनना |

चट्टानों में परिवर्तन –

अवसादी चट्टानों के रुपंतरण से बनी शैले 
मूल चट्टाने रूपांतरित चट्टाने 
  1. शेल                 –       स्लेट
  2. चूनापत्थर         –     संगमरमर
  3. चाक                –      संगमरमर
  4. डोलोमाईट       –      संगमरमर
  5. बलुवा पत्थर      –      क्वार्ट्ज

 

 आग्नेय चट्टानों के रुपंतरण से बनी शैले 
     मूल चट्टाने   रूपांतरित चट्टाने 
  1. ग्रेनाइट        –      नीस
  2. बेसाल्ट         –     एम्फीबोलाइट
  3. बेसाल्ट         –     सिस्ट

 

रूपांतरित चट्टानों के रुपंतरण से बनी शैले  
 मूल चट्टाने  रूपांतरित चट्टाने
  1. स्लेट                –     फ़ाइलाइट
  2. फ़ाइलाइट        –     सिस्ट
  3. गैब्रो                  –    सरपेंटाइन

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *