जलयान,वायुयान तथा मोटरगाड़ी निर्माण उद्योग

जलयान,वायुयान तथा मोटरगाड़ी निर्माण उद्योग |

(Vessels, aircraft and motor vehicles manufacturing industry)

जलयान निर्माण उद्योग ( vessels manufacturing industry)-

  • भारत में जलयान निर्माण के 27 औद्योगिक इकाईयों  सक्रीय है ,इनमे से 8 सार्वजनिक क्षेत्र तथा 19 निझी क्षेत्र के अंतर्गत कार्यरत है |
  • भारत में जलयान का कारखाना 1941 में विशाखापत्तनम में स्थापित किया गया ,जिसे 1952 में सरकार ने अधिग्रहण करके उसका नाम हिंदुस्तान शिपयार्ड रखा |
  • 1934 में स्थापित गर्देनारीच शिपयार्ड एंड इन्जिनियरिग लिमिटेड कोलकाता में है |इसके अतिरिक्त गोवा,मुम्बई,तथा कोच्ची भारत के प्रमुख जलयान निर्माण केंद्र है |
  • जापान की सहायता से विकसित कोचीन शिपयार्ड प्रांगण देश का नवीनतम तथा सबसे बड़ा शिपयार्ड है |यहाँ 40 हजार क्षमता का पहला स्वदेशी विमान वाहक युद्धपोत कील लेयिंग निर्मित किया गया |
  • मझगाँव शिपयार्ड(मुम्बई)में भारतीय नौसेना के लिए युद्ध पोतो का निर्माण होता है |

-राष्ट्रीय समुद्री विकास कार्यकम के अंतर्गत दो अन्तर्राष्ट्रीय आकर के शिपयार्डो के निर्माण नोडल एजेंसी बनाया गया |

1.एन्नोर पोर्ट लिमिटेड (पूर्वी तट हेतु )

2.मुम्बई पोर्ट ट्रस्ट (पश्चिमी तट )

वायुयान निर्माण उद्योग (aircarft manufacturing industry)-

  • देश में वायुयान निर्माण का पहला कारखाना 1940 में बंगलुरु में हिंदुस्तान एयर क्राफ्ट कंपनी नाम से स्थापित किया गया |जो अब हिंदुस्तान एरोनॉटिक्स लि.(H.A.L.)के मने से जाना जाताहै |
  • रक्षा उपकारो में आत्मनिर्भरता की दृष्टि से बंगलुरु,कोरापुट ,नासिक हैदराबाद,कोरबा,बैरकपुर,कानपूर तथा लखनऊ में वायुयान उद्योग की स्थापना की गयी |

मोटरगाड़ी निर्माण उद्योग (vehicels manufacturing industry)-

इस इस उद्योग को विकास उद्योग के नाम से जाना जाता है |वर्तमान में देश में सभी प्रकार के छोटे-बड़े वाहनों का निर्माण होता है |यह एक असेम्बलिग़ उद्योग है |कच्चे माल के क्षेत्र में इसकी अवस्थिति अनिवार्य है |वस्तुत मोटर उद्योग निर्माणव एकीकरण दोनों तरीको का मिश्रण है |

-विश्व के किसी मोटर कारखाने एक कारखाने में सभी प्रकार के उपकरण नही बनाये जाते है |इस उद्योग से सम्बन्धित प्रमुख इकाईयां निम्न्लिखित है

  • हिंदुस्तान मोटर्स (कोलकाता)
  • प्रीमियर ऑटोमोबाइल लिमिटेड (मुम्बई )
  • अशोक लीलेंड (चेन्नई )
  • टाटा मोटर्स (जमशेदपुर)
  • महिंद्रा एंड महिंद्रा लिमिटेड (पुणे )
  • मारुती उद्योग लिमिटेड (गुडगाँव)
  • सनराज इण्डस्ट्रीज (बंगलुरु )

दोपहिया वाहनों केनिर्माण में भारत का विश्व में दूसरा स्थान है |व्यवसायिक वाहन के पांचवा तथा कार निर्माण में एसिया में प्रथम स्थान है |

Also read…..

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *